Sunday, November 15, 2009

सावधान! " आपके शरीर में "काकटेल" जहर है " ___आपका काटा हुआ मर भी सकता है........




लौजी !

मैं अलबेला खत्री एक बार फ़िर कुछ चुटकियों के साथ

आपकी खुशी में शामिल होने गया हूँ...........


पढिये,,,, मज़ा लीजिये और प्रतिक्रिया दीजिये.............




from अमीर धरती गरीब लोग


अब आप ही बताईये कि बापू का कहा मानू या चाचू का?

___ ये उम्र सिर्फ़ लुगाई का कहना मानने की है भाई !



from दीपक भारतदीप की शब्दलेख सारथी-पत्रिका

संत कबीर वाणी-चुपड़ी रोटी मांगने में डर लगता है

___कहीं कोलेस्ट्रोल बढ़ जाए.......


from हँसते रहो हँसाते रहो


चेहरा छुपा दिया है हमने नकाब में
___
बता तो ऐसे रहे हो जैसे सोडा मिला दिया शराब में




कार्टून:- आओ टाइम पास का नया तरीक़ा दिखाऊं...

___सुबह से और कोई फंसा नहीं ,आओ तुमको ही बनाऊं ...



from महावीर

ब्लॉगिंग की 'काला पत्थर'

___पसन्द पर चटके लगा लगा कर हिट कीजिये.........



from TheNetPress.Com

बस एक एहसास की ज़रूरत है।

___बाकी जुगाड़ तो मैंने कर रखा है ...


from ITNI SI BAAT

मराठी स्टेट बैंक ??

___लूटपाट साठी मराठी माणूस पाहिजे



खूंखार हुए कौरव के शर

___तो कृष्ण ने कहा - ले मर !




सावधान! " आपके शरीर में "काकटेल" जहर है "

___आपका काटा हुआ मर भी सकता है........




सोच रहा हूँ अच्छा बच्चा बन ही जाऊँ

___क्योंकि बाप बनने में कोई फ़ायदा दिखा नहीं



from गुल्लक

एक जन्‍मदिन ऐसा भी

___जिस में एक भी गिफ़्ट नहीं आया ....



कहा था तुमने की कभी बुझना नहीं.....मैं लगातार जल रहा हूँ॥

___तुम्हें काला टीका लगाने को काजल में ढल रहा हूँ........




तुम भी जलाना इक शमा मेरे नाम की कब्र पर ...........

___आख़िर मरने का कुछ तो फ़ायदा हो............




अपने चारों ओर रहस्य का आवरण लपेटे "बिल्ली"

___जैसे बीच में संसद और चारों तरफ़ दिल्ली



from Hindi Blog Tips

Doodle 4 Google, गूगल पर चढ़ा हिंदुस्तानी रंग

___वाकई जादू सर चढ़ कर बोलता है .........

चंचल चौहान

मुक्‍ति‍बोध जन्‍मदि‍न नेट सप्‍ताह: वि‍श्‍वकोटि‍ के लेखक थे मुक्‍ति‍बोध

___जिनकी किताबें चाट -चाट कर दीमक और कीड़े मकौड़े भी कवि हो गए



(title unknown)

हिन्दी पट्टी इतनी पिछड़ी क्यों.....?

___क्योंकि अपन ने फोकट टाइम पास कर दिया




from TheNetPress.Com

एक कतरा बचपन चाहिये

___जीने के लिए............




from शिल्पकार के मुख से

उठ जा बाबु आंखी खोल

___सोनिया गांधी की जय बोल !


from उच्चारण

"बाल-दिवस"

___की एक दिवसीय नौटंकी सफल रही..




पप्‍पू की पत्‍नी और औरतें जैसे कपड़े पहनेगी, कोई एतराज मत करना

___नहीं करेंगे मगर कुछ पहन अवश्य ले .............



from nIlofar

आतंकवादी हेडली का 'राहुल' महेश भट्ट का बेटा निकला

___वे दूसरो की देखने जाते हैं दूर दूर, उनकी ***है आज , चलो देखने चलें...


from चिठ्ठा चर्चा

तनावग्रस्त पुरुषों की मदद कीजिए....

___ उन्हें लिंग परिवर्तन विशेषज्ञ के पास भेजिए...



-चुटकीबाज़ अलबेला खत्री





13 comments:

जी.के. अवधिया said...

अलबेला जी की चुटकी
जैसे हो ब्लोगिंग माखन की मटकी
एक ही जगह लिंक सभी मिल जाते हैं
जिन्हें पाकर ब्लोगरों के दिल खिल जाते हैं!

संगीता पुरी said...

बढिया !!

Mithilesh dubey said...

आपकी चुटकी हमेशा की तरह इस बार भी लाजवाब रही । आभार

अजय कुमार said...

चुटकी में चिटकाये

डॉ टी एस दराल said...

भई, ये चुटकीबाजी तो कमाल की रही.
हमने पहले कैसे नहीं देखी.

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

वाह........!
चर्चा बहुत बढ़िया रही!
नौटंकी एक दिन की नही एक घण्टे की थी!

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

आनन्द दायक चुटकी चर्चा !

विवेक सिंह said...

एक चिट्ठाचर्चा इत्थे भी खोल दो जी । अच्छी चलेगी । आपका सेंस ऑफ ह्यूमर बेमिसाल है ।

पी.सी.गोदियाल said...

बहुत खूब, देर से नजर डालने के लिए क्षमा !

SACCHAI said...

" bahut hi maza aagaya ..bahut badhiya sir ."

----- eksacchai { AAWAZ }

http://eksacchai.blogspot.com

Ashish Khandelwal said...

चुटकियां शानदार रहीं..

हैपी ब्लॉगिंग

Dipak 'Mashal' said...

आज की चुटकियाँ तो और भी जबरदस्त हैं अलबेला साब... करिश्मा पे करीना करे जा रहे हैं आप तो .. :)
चिठ्ठे को शामिल करने के लिए बहुत बहुत आभार...
जय हिंद...

संजय भास्कर said...

बहुत खूब,