Tuesday, November 10, 2009

इतना बताइयेगा और कितना सताइयेगा - उतना, जितना आप सहन करते जाइयेगा



खुदा.देवता.वाहेगुरु.और GOD -
- राकेश जैन
आगे कुआ,पीछे खाई,सामने अँधा मोड़



टिकट जांच करने वाले कर्मचारियों को सुरक्षा से जुड़े मुद्दे पर संवेदनशील बनाया जाएगा

3 comments:

Udan Tashtari said...

एक लाईना चर्चा टाईप!!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

खत्री जी!
इस चमत्कार को नमस्कार!
आपने तो एग्रीग्रेटर ही बना डाला।
खूब करीने से सजाया है।
सभी बढ़िया लिंक दिये हैं।
मेरी पोस्ट को सम्मिलित करने के लिए आभार!

Udan Tashtari said...

वाकई...गजब एक लईना!!